लो ब्लड प्रेशर क्या है: कारण, लक्षण, उपाय व पूरी जानकारी।

आज के इस लेख में हम लो ब्लड प्रेशर क्या है ब्लड प्रेशर लो क्यूं होता है इसके लक्षण क्या है और इससे बचने के कारगर उपाय क्या है इन सभी टॉपिक पर बात करेंगे। लो ब्लड प्रेशर तब होता है जब नॉर्मल से काफी कम हो जाता है ऐसे में खून शरीर के महत्वपूर्ण भाग हृदय, मस्तिष्क व अन्य जगहों पर नहीं पहुंच पाता है। कभी कभी लो ब्लड प्रेशर होने पर कोई लक्षण नहीं होता है। ऐसे में ये आम तौर पर होता रहता है। तो आइए इससे संबंधित जानकारी डिटेल मे प्राप्त करते हैं।

लो ब्लड प्रेशर क्या है

लो ब्लड प्रेशर को हम निम्न रक्त चाप के नाम से भी संबोधित करते हैं। ऐसा तब होता है जब शरीर के कुछ जरूरी अंग जैसे दिमाग, हृदय, आदि जगह पर खून नहीं पहुंच पता है। उस स्थिति मे निम्न रक्त चाप की शिकायत देखने को मिलती है। एक अच्छा लो ब्लड प्रेशर 120/80 (सिस्टोलिक/ डायस्टोलिक) से कम और 90/60 से ज्यादा ही होना चाहिए।

लो ब्लड प्रेशर क्या है पूरी जानकारी
लो ब्लड प्रेशर क्या है पूरी जानकारी

अगर ये 90/60 से कम है तो इसे डॉक्टरों की भाषा में “हाइपोटेंशन” कहा जाता है। आम तौर पर लो ब्लड प्रेशर तब होता है जब किसी को चक्कर आता है या बेहोश हो जाता है कोई। ऐसा तब अधिकतर उस केस में होता है जब लोग उठने के लिए खड़े होते हैं या लेटने के बाद खड़े होते हैं। 

लो ब्लड प्रेशर के लक्षण

जब आप को चक्कर आए या आप बेहोश हो जाओ। तो समझ लीजिए कि आपका ब्लड प्रेशर लो है। ऐसा आम तौर पर देखने को मिल जाता है। मगर इसके अलावा भी कुछ लक्षण है जिससे ये पता चलता है कि आपका ब्लड प्रेशर लो है या सामान्य है।

• धुंधला दिखना या लुप्त होती दृष्टि ( आंखे बन्द होना)

• थकान

• जी मिचलाना भी लो ब्लड प्रेशर का ही एक लक्षण है।

• एकाग्रता मे कमी होना भी लो ब्लड प्रेशर का ही लक्षण है।

लेकिन ध्यान रहे जब लोगों का ब्लड प्रेशर को ज्यादा ही नीचे गिर जाए तो वह व्यक्ति शॉक में आ सकता है। जोकि उसके लिए काफी हानिकारक है। ये जिसके साथ भी होता है तो सिर्फ इतना ही है कि इमर्जेंसी स्थिति उत्पन्न हुई है और उस व्यक्ति को उचित समय पर उचित इलाज की आवश्यकता है।

लो ब्लड प्रेशर के कारण

लो ब्लड प्रेशर के कारण मे कुछ बीमारियां शामिल है जैसे डायबिटीज़, या थायरायड, ऐसा गर्भावस्था में भी हो सकता में भी हो सकता है। कभी-कभी ऐसा होता है कि ब्लड प्रेशर कम होने का कारण पता नहीं चल पाता है।

कुछ बीमारियों मे या चिंताजनक परिस्थिति में लंबे समय तक ब्लड प्रेशर कम होने की संभावनाएं बढ़ जाती है ऐसे में अगर उपचार ना मिलें तो ये खतरनाक हो सकता है।

• चोट लगने पर अगर आपके शरीर से काफी रक्त निकाल गया है तो उससे भी लो ब्लड प्रेशर हो सकता है।

• हार्ट अटैक, दिल के दौरे या हृदय वाल्व में गड़बड़ी के कारण रक्त परिसंचरण में समस्या भी लो ब्लड प्रेशर का कारण बन सकता है।

• खून से संबंधित संक्रमण।

• निर्जलीकरण कमजोर या शॉक की स्थिति जो कभी कभी निर्जलीकरण से साथ हो सकती है।

• डाइबिटीज, थायरायड जैसे इंडोक्राइन रोग भी निम्न रक्त चाप का कारण बन जाते है।

• कुछ दवाइयों के कारण भी रक्तचाप की समस्याएं देखने को मिल जाती है।

Note: हर दवाई को डॉक्टर की प्रिस्क्रिप्शन के पश्चात ही खाएं।

लो ब्लड प्रेशर से बचने के उपाय

लो ब्लड प्रेशर से बचने के कई सारे उपाय है आइए नीचे बिंदुओं में जानते हैं वह कौन-कौन से उपाय हैं।

शराब का सेवन अगर करते हैं तो तुरंत बंद कर दें

अगर आप शराब का सेवन कर रहे हैं तो तुरंत ही बंद कर दें क्यूंकि शराब आपके शरीर में पानी की कमी करती है जिससे निम्न रक्त चाप जैसी समस्या आने लगती है। जिससे आपको चक्कर आना, धुंधला दिखना जैसी समयाएं होने लगती है।

• पौष्टिक चीज़ों का सेवन करें

खाने में पौष्टिक आहार जैसी चीजें ले जैसे अनाज, फल, हरी सब्जियां, मांस मीठ, जैसे खाद्य पदार्थ लें। ये आपके शरीर में ऊर्जा का संचार करेंगे और आपको पोषक तत्व देंगे और आपका स्वास्थ्य दिन प्रतिदिन और अच्छा होता जाएगा।

अपने शरीर की मुद्रा का अवश्य ध्यान रखें लेटे हों या बैठे हो तो अचानक से खड़े ना होए आराम से ही होएं इसके अलावा एक पैर पर दूसरे पैर को चढ़ा कर बिल्कुल भी ना बैठे।

कम कार्ब युक्त भोजन का सेवन करें

भोजन करने के बाद लो ब्लड प्रेशर के तेज़ी से  कम होने से रोकने के लिए दिन में थोड़ा ज्यादा या कई बार भोजन करें लेकिन आलू, चावल, पास्ता जैसी उच्च कार्बोहाइड्रेट खाद्य पदार्थों का सेवन अगर कर रहे है तो तुरंत रोक दें।

आपके आपके डॉक्टर हो सकता है आपको भोजन के साथ कैफीन युक्त कॉफी या चाय पीने की सलाह भी दे सकते हैं ताकि अस्थाई रूप से आपका ब्लड प्रेशर तेजी से बढ़ जाए लेकिन कैफीन युक्त काफी है चाय अन्य समस्याओं को भी पैदा करती हैं। इसलिए अधिक कैफीनयुक्त पेय पदार्थ का सेवन करने से पहले अपने अपने डॉक्टर की सलाह लेना बिल्कुल भी ना भूलें।

लो ब्लड प्रेशर क्या है?

जब किसी कारण शरीर के किसी अंग जैसे दिमाग, हृदय, आदि जगह पर खून नहीं पहुंच तो इस प्रक्रिया को लो ब्लड प्रेशर के नाम से जाना जाता है।

स्वस्थ मनुष्य का ब्लड प्रेशर कितना होना चाहिए?

अच्छा लो ब्लड प्रेशर 120/80 (सिस्टोलिक/ डायस्टोलिक) से कम और 90/60 से ज्यादा ही होना चाहिए।

लो ब्लड प्रेशर के क्या लक्षण हो सकते है?

धुंधला दिखाना, जी मचलना, कमजोरी महसूस होना लो ब्लड प्रेशर के लक्षण होते है।

Conclusion

आज के इस लेख में हमने लो ब्लड प्रेशर क्या है, कैसे होता है इससे संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त करी है हम आशा करते हैं आपको ये लेख पसंद आया होगा और इसमें दी गई जानकारी से आपको समझ आ गया होगा की लो ब्लड प्रेशर को कैसे कम करें। अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो हमे नीचे कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं और अपने मित्रो व सगे संबंधियों को भी अवश्य शेयर करें ताकि उनको भी ये महत्वपूर्ण जानकारी मिल सके।

Leave a Comment